TMBU में CYBER LIBRARY का शुभारंभ। 


तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के केंद्रीय पुस्तकाल में साइबर पुस्तकालय का विधिवत शुभारंभ मंगलवार को कुलपति डॉ. रमा शंकर दुबे व प्रतिकुलपति डॉ. अवध किशोर राय ने फीता काटकर किया। इस मौके पर कुलपति ने साइबर पुस्तकालय को और अधिक सुदृढ़ बनाने के लिए सूचना और पुस्तकालय नेटवर्क (इनफ्लिबनेट) से जोड़ने की बात कही। उन्होंने विश्वास जताया कि साइबर पुस्तकालय एक माह में इनफ्लिबनेट से जुड़ जाएगा। प्रतिकुलपति ने विवि के केंद्रीय पुस्तकालय की तुलना बनारस हिन्दू विवि के पुस्तकालय से की और उसके समकक्ष बताया। इस मौके पर प्रभारी प्राध्यापक प्रो. बीरेंद्र कुमार सिंह, प्रभारी पुस्तकालय अध्यक्ष बसंत कुमार चौधरी, कुलानुशासक प्रो. उपेन्द्र साह, प्रो. दामोदर महतो, प्रो. क्षमेन्द्र कुमार सिंह आदि मौजूद थे।

मिली जानकारी के अनुसार इनफ्लिबनेट विश्वविद्यालय के पुस्तकालयों के आधुनिकीकरण के लिए शुरू किया गया है। विवि के साइबर लाइब्रेरी में शुरू हुए पुस्तकालय को राज्य सरकार के एनआइसी से तेज गति की इंटरनेट सेवा उपलब्ध होगी। फिलहाल केंद्रीय पुस्तकालय में रोजाना 40 से 50 छात्र पढ़ाई के लिए आते हैं।

कराना होगा नामांकन

साइबर पुस्तकालय का लाभ लेने के लिए छात्रों को केंद्रीय पुस्तकालय का सदस्य बनना होगा। सदस्य वही बन सकते हैं जो तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय से किसी न किसी रूप से जुड़े हैं। सदस्य बनने के बाद संबंधित छात्र व शिक्षकों को मंथली शुल्क भी जमा करना होगा।
इनफ्लिबनेट पर हजारों पत्रिकाएं और जर्नल

यूजीसी के इनफ्लिबनेट पर विश्वविद्यालय स्तर की सारी जानकारियां उपलब्ध है। इनफ्लिबनेट खोलने के बाद संबंधित छात्र अपने विषय पर क्लिक करेंगे। इसके बाद संबंधित विषय से जुड़ी किताबें, मैगजीन, रिसर्च वर्क, स्पीच, डिबेट, अंतर राष्ट्रीय स्तर के आलेख व जर्नल उपलब्ध होंगे।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s