PM मोदी आज रखेंगे छत्रपति शिवाजी की मूर्ति की नींव, 3600 करोड़ की लागत से बनेगा स्मारक। 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक दिन के दौरे पर महाराष्ट्र आयेंगे जहां वो मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के भव्य स्मारक और मुंबई और पुणे में मेट्रो रेल परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे.

शिवाजी का ये स्मारक मुंबई के अरब सागर में समंदर तट से डेढ़ किलोमीटर अंदर होगा. स्मारक में छत्रपति शिवाजी की विशालकाय मूर्ति होगी. जिसकी ऊंचाई घोड़े समेत 192 मीटर यानी 630 फीट होगी. सिर्फ शिवाजी के पुतले की ही ऊंचाई करीब 114 मीटर यानी करीब 375 फीट है. 32 एकड़ के चट्टान पर स्मारक तैयार किया जाएगा जहां 10 हजार लोग एक साथ विजिट कर सकते हैं.

स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से भी ऊंची शिवाजी की मूर्ति

आपको बता दें कि शिवाजी की इस मूर्ति की तुलना पूरी दुनिया में मशहूर न्यू यॉर्क के स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से भी की जा रही है. जिसकी कुल ऊंचाई करीब 93 मीटर है. ऊंचाई के लिहाज से शिवाजी की मूर्ति स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से काफी ऊंची होगी. यही नहीं स्मारक पर मंदिर, लाइब्रेरी, एम्पीथिएटर, फूड कोर्ट, ऑडियो गायडेड टुअर जैसी सुविधाएं भी होंगी. इस भव्य स्मारक का कुल खर्च करीब 3600 करोड़ रुपये आंका गया है.

शिवाजी की मूर्ति को डिजाइन करने की जिम्मेदारी मशहूर शिल्पकार और पद्मभूषण से सम्मानित राम सुतार को सौंपी गई है. जिन्होंने इससे पहले स्टेच्यू ऑफ यूनिटी यानी सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति का डिजाइन भी तैयार किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज खुद इस स्मारक की नींव रखेंगे. स्मारक के भूमि पूजन के लिए राज्य के 36 जिलों से कलश और मिट्टी भी मंगाई गई है. आज इस भव्य कार्यक्रम के लिए पूरा मुंबई तैयार है. लोगों को मराठा साम्राज्य और संस्कृतियों की झलक मिल सके इसके लिए खास व्यवस्था की गई है.

बॉलीवुड सेट डिजायनर नितिन चंद्रकांत देसाई ने राज्य को बॉलीवुड सेट में बदल दिया है. गिरगाम चौपाटी में अतिथियों के बैठने का इंतजाम किया जा रहा है. मराठा की नौसेना की ताकत दिखाने के लिए अरब सागर में आज केसरिया झंडे के साथ 15 से अधिक नौकाएं खड़ी होंगी.

सरकार का दावा है कि इस भव्य स्मारक के पहले चरण का काम साल 2019 में पूरा कर लिया जाएगा.

राजनीति तेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल खुद इस स्मारक की नींव रखेंगे. स्मारक के भूमि पूजन के लिए राज्य के 36 जिलों से कलश और मिट्टी भी मंगाई गई है. लेकिन भूमिपूजन से पहले ही शिवाजी के स्मारक पर राजनीति तेज हो गई है. विपक्ष का कहना है कि स्थानीय निकाय चुनाव को देखते हुए बीजेपी शिवाजी के स्मारक पर राजनीति कर रही है. खास बात ये है कि पिछले कुछ महीने से मराठा समाज ने राज्य में आंदोलन खड़ा कर रखा है. आरक्षण का ये मामला कोर्ट में लंबित है. जानकार मान रहे है की स्मारक की आड़ में बीजेपी मराठाओं को लुभाने की कोशिश कर रही है, लेकिन बीजेपी का साफ कहना है कि स्मारक राजनीतिक एजेंडा नहीं है.

कांग्रेस का ये भी कहना है कि शिवाजी के स्मारक का प्रोजेक्ट कांग्रेस का ही था जिसे बीजेपी ने हथिया लिया है. स्मारक पर होने वाले खर्च को लेकर कई एक्टिविस्ट सवाल भी उठा रहे हैं. वरिष्ठ पत्रकार करिश्मा उपाध्याय ने स्मारक के विरोध में ऑनलाइन पिटिशन भी दाखिल की है. सवाल उठाने वालों का तर्क है कि इस प्रोजेक्ट की लागत BMC के एक साल के स्वास्थ्य बजट के बराबर है.

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s