अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतरे, दो मरे, पचास घायल.. 

अजमेर-सियालदाह एक्सप्रेस ट्रेन के 14 डिब्बे बुधवार (28 दिसंबर) सुबह करीब साढ़े 5 बजे पटरी से उतर गए। बताया जा रहा है कि यह हादसा कानपुर देहात के रूरा क्षेत्र में हुआ है। इसमें करीब 50 से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है। यह आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है। हादसे के बाद दिल्ली-हावड़ा रूठ ठप हो गया है। घायलों को हॉस्पिटल्स में भेजा जा रहा है। यूपी के डीजीपी के मुताबिक़ आला अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि यह हादसा हाल ही में कानपुर में हुए ट्रेन हादसे की तरह नहीं है। फिलहाल अभी तक के मौत की सूचना नहीं है। रेस्क्यू टीम मौके पर मौजद है। राहत एवं बचाव का काम जारी है।

यह हादसा कानपुर से करीब 70 किमी दूर रूला इलाके में हुआ। हादसे की वजह से दिल्ली- हावड़ा रूट बंद हो गया है। कानपुर के एसपी ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। अब तक 23 लोगों को नजदीक के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। बाकी कई लोगों को मामूली चोट आई हैं। वहीं रेलवे के मुताबिक, कुल 15 डिब्बे पटरी से उतरे, जिसमें 13 स्लीपर क्लास के हैं। रेलवे प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया कि सभी लोग सुरक्षित हैं। मौत की कोई खबर नहीं है।

दिल्ली-हावड़ा रूट वाधित

हादसे के बाद से दिल्ली हावड़ा रेल रूट बाधित हो गई है। मौके पर राहत-बचाव टीम को रवाना कर दिया गया है। 6 बजे के आसपास कानपुर सेंट्रल से डॉक्टरों को दुर्घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया गया है।

रेल मंत्री ने कहा- घायलों के इलाज के लिए व्यवस्था की जा रही है

वहीं रेलमंत्री सुरेश प्रभु हादसे की पल पल की खबर ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि घायलों के इलाज के लिए व्यवस्था की जा रही है, घायलों को मुआवजा दिया जाएगा। सुरेश प्रभु ने कहा- ” दुर्घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं रेक्स्यू और राहत काम कर नजर रख रहा हूं।””रेलवे के अफसरों को फौरन हादसे वाली जगह पर पहुंचने के ऑर्डर दिए गए हैं। जख्मी लोगों को मेडिकल फेसिलिटीज दी जा रही है।” “हादसे की वजह की जांच करने के आदेश दिए गए हैं।”

हेल्प लाइन नंबर जारी

पिछले महीने भी हुआ था हादसा, पटरी से उतर गए थे 14 डिब्बे
गौरतलब है कि पिछले महीने 11 नवंबर को कानपुर से से करीब 60 किलोमीटर दूर पुखरायां स्टेशन के पास पटना के राजेंद्रनगर और इंदौर के बीच चलने वाली 19321 एक्सप्रेस के 14 डिब्बे देर रात पटरी से उतर गए थे।
ट्रेन इंदौर से राजेंद्रनगर जा रही थी। इस हादसे में करीब 135 लोगों की जान चली गई थी। जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। ट्रेन के सारे एसी डिब्बे और एस-1 से एस-6 तक सभी डिब्बे पटरी से उतर गए थे।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s