सुपौल:सरकारी जमीन पर कब्जा जमाये हैं पिपरा के राजद विधायक। 


अब इसे सत्ता की हनक कहें या प्रशासन की कमजोरी। हाईकोर्ट के आदेश के आलोक में आये दिन सड़क किनारे बसे गरीब गुरबों के आशियाने को अतिक्रमण के नाम पर उजाड़ देने वाला प्रशासन सत्ता दल से जुड़े एक विधायक के कब्जे में सरकारी जमीन से अतिक्रमण नहीं हटा पाया है। वह भी तब जब 1988 और उसके बाद कई बार जिला दंडाधिकारी कोर्ट ने कब्जा हटाने का आदेश जारी किया है। कब्जा करने वाले विधायक किशनपुर प्रखंड के यदुवंश कुमार यादव पिपरा से राजद विधायक हैं।
इन पर प्रखंड कार्यालय की साढ़े तीन डिसमिल जमीन के अतिक्रमण को लेकर 1988 में ही तत्कालीन बीडीओ ने एसडीओ कोर्ट में केस किया था। तब 22.6.88 को तत्कालीन एसडीओ बद्री बैठा ने यदुवंश कुमार यादव को नोटिस जारी कर कहा था कि नोटिस पाने की तिथि से दो सप्ताह तक या 25 जून 88 को कोर्ट में उपस्थित होकर जवाब दें कि कब्जा क्यों न हटा दिया जाय। आदेश में यह भी कहा गया था कि तत्कालीन बीडीओ की रिपोर्ट से स्पष्ट है कि यदुवंश कुमार यादव ने प्रखंड कार्यालय की सरकारी जमीन खाता संख्या 773 और खेसरा नम्बर 4306, रकबा साढे़ तीन डिसमिल जमीन का अतिक्रमण किया हुआ है।
प्रखंड कार्यालय की साढ़े तीन डिसमिल जमीन का अतिक्रमण कर सालों से उस पर खेती की जा रही है। जमीन के कुछ हिस्से पर पक्का मकान भी बना लिया गया है। चर्चा है कि प्रखंड में व्यापार मंडल के लिए भवन का निर्माण भी कुछ इस ढंग से कराया गया कि व्यापार मंडल भवन के पीछे बिना किसी रोक-टोक के सब्जी की खेती होती रहे।
बीडीओ ने लगायी गुहार: 1988 में तत्कालीन बीडीओ द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए शुरू की गयी कार्रवाई किस परिस्थिति में ठंडे बस्ते में चली गयी यह प्रशासन ही बता सकता है। फिलहाल वर्तमान बीडीओ गोपाल कृष्णन ने एक बार फिर विधायक यदुवंश कुमार यादव द्वारा किये गये अतिक्रमण के खिलाफ डीएम और अन्य अधिकारियों से गुहार लगायी है। बीडीओ ने बीते 28 दिसम्बर को पत्र लिखकर कहा है कि आवेदक सूर्य नारायण यादव ने विधायक यदुवंश यादव के खिलाफ आवेदन देकर सरकारी जमीन का अतिक्रमण करने का आरोप लगाया था। इस संबंध में 19 नवम्बर 16 को पूरी रिपोर्ट सौंपी गयी थी। लेकिन जिला स्तर से न तो कोई जवाब आया न वैधानिक तरीके से सरकारी जमीन को कब्जामुक्त कराया गया। यही नहीं बीडीओ श्री कृष्णन ने यह भी आरोप लगाया है कि अतिक्रमण का मामला उठाने के बाद विधायक श्री यादव और उनके भाई प्रखंड प्रमुख विजय यादव असामाजिक तत्वों को भेजकर सरकारी काम में बाधा पहुंचा रहे हैं। यही नहीं प्रखंड कार्यालय में उन्होंने अराजकता का माहौल भी कायम कर दिया है। बीडीओ ने कार्यालय और सरकारी कागजात, रजिस्टरों की सुरक्षा और सरकारी भूमि पर से विधायक का कब्जा नहीं हटाया जाना गंभीर मुद्दा बताया है।
इसके लिए लंबी लड़ाई लड़ी। मेरे पास भी कोर्ट का आदेश है। अगर मैंने सरकारी जमीन का अतिक्रमण किया है तो प्रशासन मापी करवाकर खाली करवा लें।
यदुवंश कुमार यादव, विधायक, पिपरा।
सरकारी जमीन पर विधायक के अतिक्रमण मामले की जांच करायी जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कोई कार्रवाई होगी।
बैद्यनाथ यादव, डीएम, सुपौल।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s