मुलायम से मिलने पहुंचे अखिलेश, बैठक में अमर और रामगोपाल नहीं… 


मुलायम सिंह यादव के सोमवार को नरम तेवरों के बाद लग रहा है कि अखिलेश यादव के साथ उनकी सुलाह हो सकती है। मुलायम से मिलने के लिए मंगलवार सुबह अखिलेश यादव उनके निवास स्थल पर पहुंचे। इस बैठक के बाद मुलायम सिंह और अखिलेश संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर बड़ा ऐलान कर सकते हैं। बाप और बेटे की इस मुलाकात के दौरान अमर सिंह और रामगोपाल यादव अनुपस्थित रहे।
वहीं चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद सोमवार शाम को मुलायम सिंह यादव लखनऊ लौट गए। लखनऊ में मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी एक है और अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसके लेकर कोई मतभेद नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी टूटने का सवाल ही नहीं है। हम सब एक हैं और जल्द ही चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे।
आखिरी दांव: मुलायम अभी तक कहते रहे हैं कि चुनाव बाद विधायक ही सीएम का चुनाव करेंगे। पार्टी को टूट से बचाने के लिए इसे मुलायम का आखिरी दांव माना जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि इससे वह अखिलेश को मना लेंगे।
बेटे से कोई विवाद नहीं : इससे पहले दिल्ली में मुलायम ने रामगोपाल की ओर इशारा करते हुए कहा था कि केवल एक शख्स पार्टी में समस्याएं पैदा कर रहा है। उसने ही मेरे बेटे को बहका रखा है। मैंने अखिलेश से रविवार रात और आज (सोमवार) सुबह भी बात की। मेरे और उसके बीच कोई विवाद नहीं है। पार्टी में जारी घमासान पर उन्होंने कहा कि मामले को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।
मैं सिंबल दूंगा : मुलायम ने कहा कि उम्मीदवारों के चुनाव चिह्न् के फार्म पर दस्तखत वे ही करेंगे। उन्होंने घर के बाहर खड़े कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी प्रत्याशी कौन होगा,यह वे तय करेंगे। दावा जताया : मुलायम ने शिवपाल और अमर सिंह के साथ दिल्ली में चुनाव आयुक्त से मुलाकात कर सपा और चुनाव चिह्न साइकिल पर दावा जताया और अखिलेश गुट के हलफनामों को भी चुनौती दी।
अखिलेश खेमा अड़ा: अखिलेश खेमा पीछे हटने को तैयार नहीं है। उसने भी आयोग से मिलकर दावेदारी जताई।
नाउम्मीद नहीं: सपा में सुलह की कोशिशें परवान न चढ़ पाने के बावजूद आजम खां ने अभी उम्मीद नहीं छोड़ी है।
मुलायम ने राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी को पत्र लिखकर रामगोपाल यादव को सदन में पार्टी के नेता पद से हटाए जाने की मांग की। यह भी आग्रह किया कि रामगोपाल को सदन में पिछली सीट पर स्थानांतरित किया जाए। अभी वह अगली कतार में बसपा प्रमुख मायावती के पास की सीट पर बैठते हैं।
रामगोपाल यादव और नरेश अग्रवाल चुनाव आयोग से निकले।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s