टाटा संंस के 150 साल के इतिहास में पहली बार गैर पारसी चेयरमैन होंगे एन चंद्रशेखरन। 


टीसीएस (टाटा कन्सलटेंसी सर्विसेज़) के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर नटराजन चंद्रशेखरन को टाटा सन्स का नया चेयरमैन बनाया गया है. 53 साल के नटराजन चंद्रशेखरन को साइरस मिस्त्री का जगह टाटा संस की कमान दी गई है. वहीं टाटा के 150 साल के इतिहास में चंद्रशेखरन टाटा के पहले गैर पारसी चेयरमैन होंगे. गौरतलब है कि अक्टूबर में साइरस मिस्त्री को टाटा सन्स के चेयरमैन पद से हटाया गया था और उनकी जगह रतन टाटा ने कंपनी के अंतरिम चेयरमैन के तौर पर काम दोबारा संभाला था.

नटराजन चंद्रशेखरन को साइरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाने के कुछ ही दिन बाद टाटा संस के निदेशक मंडल में शामिल किया गया था. टीसीएस में साल 2009 से मुख्य कार्यकारी की भूमिका निभा रहे नटराजन चंद्रशेखरन टाटा संस की जिम्मेदारी टीसीएस के शानदार प्रदर्शन के आधार पर मिली है, ऐसा कहा जा रहा है. आज ही टीसीएस के तिमाही नतीजे भी आए हैं जिनमें कंपनी का शानदार प्रदर्शन जारी रहा है.

24 अक्टूबर को जब साइरस मिस्त्री को हटाया गया ता उस वक्त कहा गया था कि फरवरी तक नए चेयरमैन का एलान कर दिया जाएगा. इस बीच जनवरी में ही यह फैसला ले लिया गया है. चंद्रशेखरन के नेतृत्व में टीसीएस टाटा की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली कंपनी बनी है. चंद्रशेखरन को इसी का रिवॉर्ड मिला है.

6 लाख 60 हजार 800 कर्मचारियों के टाटा ग्रुप का 100 देशों में कारोबार फैला है. चंद्रशेखरन अब इसी कंपनी की कमान संभालेंगे. टाटा संस के निदेशक बोर्ड ने सर्वसम्मति से एन चंद्रशेखरन को चेयरमैन चुना. ये फैसला चयन समिति की सिफारिशों के आधार पर किया गया.

53 साल के एन चंद्रशेखरन 2009 से टाटा की सॉफ्टवेयर फर्म टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज यानी टीसीएस के सीईओ और एमडी रहे. चंद्रशेखरन 30 साल पहले 1987 में कंपनी से जुड़े थे पिछले साल 24 अक्टूबर को साइरस मिस्त्री के हटाए जाने के अगले ही दिन चंद्रशेखरन टाटा संस के निदेशक बनाए गए थे. रतन टाटा ने साइरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाकर खुद कमान संभाल ली थी.

चंद्रशेखरन की अगुवाई में ही टीसीएस टाटा समूह की सबसे ज्यादा कमाई वाली कंपनी बनी. 2015-16 में टीसीएस को 16.5 अरब डॉलर यानी 1 लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा कमाई की. 2015 में टीसीएस 2015 में आईटी की दुनिया की सबसे शक्तिशाली ब्रांड बनी. टीसीएस में 3 लाख 71 हजार कंसल्टेंट हैं और निजी क्षेत्र में रोजगार देने वाली सबसे बड़ी कंपनी है. नए-नए डिजिटल प्रोडक्ट लाने में चंद्रशेखरन को महारत हासिल है और इससे कंपनी को खासा फायदा हुआ. चंद्रशेखरन को पिछले साल रिजर्व बैंक के केंद्रीय बोर्ड में शामिल किया गया.

समाचार एजेंसी पीटीआई पर इस बारे में ट्वीट भी हुआ है. टाटा समूह को नियंत्रित करने वाली होल्डिंग कंपनी टाटा संस के चेयरमैन पद से साइरस मिस्त्री को हटाए जाने के बाद से ही समूह में खींचतान की खबरें आती रही हैं.

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s