जल उठा सहारनपुर, पुलिस पर पथराव, फायरिंग, चौकी व वाहन फूंके


उत्तर प्रदेश को उत्तराखंड तथा हरियाणा के जोडऩे वाले सहारनपुर में माहौल शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। यहां शब्बीरपुर हिंसा को लेकर धरना दे रहे भार्मी आर्मी के कार्यकर्ताओं को उठाने के विरोध में शहर में बवाल हो गया। इस बवाल के बाद कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ गाली-गलौच के साथ पथराव, फायरिंग व आगजनी की। आज इन कार्यकर्ताओं ने पुलिस को भी दौड़ लिया। आज कई स्थानों पर पुलिस व दलित आमने-सामने रहे।

हिंसा को लेकर धरना दे रहे भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को उठाने के विरोध में शहर व रामपुर मनिहारन क्षेत्र में जमकर बवाल हुआ। पुलिस के साथ गाली-गलौच पथराव,फायरिंग, तोडफ़ोड़ व आगजनी की। रामपुर मनिहारन सीओ की जीप तोड़ दी। रामनगर पुलिस चौकी में आग लगा दी। एक-एक बस व कार समेत डेढ़ दर्जन दो पहिया वाहनों में आग लगा दी।

एडीएम, एसडीएम, नगर मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों को कालोनी में घुसकर जान बचानी पड़ी। इस घटना में एक सिपाही समेत एक दर्जन लोग घायल हो गए। कई स्थानों पर पुलिस व दलित आमने-सामने है। एडीएम से भी मारपीट की गई।

गांधी पार्क में भीम आर्मी सेना के बैनर तले दलित एकत्र हुए। शब्बीरपुर के पीडि़तों को मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया, इसी बीच पुलिस पहुंची और बिना अनुमति के धरना देने पर वहां से आन्दोलनकारियों को उठाने का प्रयास किया। इसी बीच आन्दोलनकारियों व पुलिस के बीच गाली-गलौच व पथराव की घटनाएं हुई।

इसके बाद यह आन्दोलनकारी आगे-आगे और पुलिस उनके पीछे-पीछे दौड़ती रही। कभी घंटाघर तो कभी गोविन्द्र नगर तो कही चिलकाना रोड पर इन कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पथराव किया। चिलकाना रोड पर एक कूड़े के ढ़ेर में आग लगाने के बाद आन्दोलनकारी हाथों में तंमचे लेकर पुलिस के सामने आ गए और फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान अपनी जान बचाने के लिए पुलिसकर्मी वहां से भाग खड़े हुए। दलितों ने चिलकाना रोड पर जाम लगा दिया है।

पुलिस जाम खुलवा ही रही थी कि नजीरपुर रोड पर दलितों ने एक बस में आग लगा दी। पुलिस ने यहां पहुंचकर मामला शांत कराया तो दूसरी ओर मल्हीपुर रोड पर बवाल शुरू हो गया। यहां पहले दलितों ने दो बाइक में आग लगा दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस पर पथराव कर दिया। यहां दलितों ने जाम भी लगा दिया। अफसर जाम खुलवा ही रहे थे कि अचानक एक बार फिर दलितों ने पथराव व फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस चौकी राम नगर में आग लगा दी। उसी के आसपास 8 मीडिया कर्मियों, स्थानीय अभिसूचना इकाई निरीक्षक, पुलिस दारोगा समेत एक दर्जन बाइक में आग लगा दी। एक दरोगा की निजी कार भी फूंक दी गई। हालात इतने गंभीर हो गए कि यहां एडीएम प्रशासन एस के दुबे, नगर मजिस्ट्रेट हरीश चंद व अन्य पुलिस अधिकारियों को अपनी जान बचाने के लिए एक कालोनी में घुसना पड़ा।
डीएम एनपी सिंह व एसएसपी सुभाष चंद दुबे भारी पुलिस बल के साथ मौके पर आए। अभी यहां तनाव की स्थिति बनी हुई है। रामपुर मनिहारन में कुछ दलितों को पुलिस ने शहर में हो रहे धरना स्थल पर जाने से रोका तो इन दलितों ने रेलवे ट्रैक को घेर लिया। मौके पर सीओ प्रशिक्षु यतेन्द्र सिंह भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे दलितों ने उन पर हमला बोल दिया। उनकी गाड़ी तोड़ दी, इस दौरान पुलिस कर्मी राहुल गंभीर रूप से घायल हो गया। यहां भी दलितों ने पुलिस को दौड़ा दिया है और तनाव की स्थिति बनी हुई है। अभी पांच दिन पहले बडग़ांव थाना क्षेत्र के गांव शब्बीरपुर व महेशपुर में दलितों व ठाकुरों में जातीय संघर्ष हुआ। अभी इन गांव में तनाव पूर्ण शांति है। ऐसे में शहर क्षेत्र में हुआ यह बवाल तूल पकडता जा रहा है।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s